प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना पंजीकरण 2018 | आवेदन फॉर्म डाउनलोड करें

प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना पंजीकरण 2018 – प्रधानमंत्री गर्भ अवस्था सहायता योजना आवेदन: इस योजना के अंतर्गत गर्भवती महिलाओं को ₹6000 तक का एक वित्तीय सहायता प्रदान किया जाता है भारत सरकार की तरफ से। इस राशि को प्रदान करने का वजह है की गर्भवती माताएं अपने शिशु का और अपना अच्छे से ख्याल रख सके। मैं आपको प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना पंजीकरण आवेदन फार्म कैसे डाउनलोड करें और साथ में प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना पंजीकरण आवेदन फॉर्म कैसे भरें इसकी पूरी जानकारी देने वाला हूं।

Pradhan Mantri Matritva Vandana Yojana

अगर आप एक गर्भवती माता हैं या आपके परिवार में कोई गर्भवती महिला है तो इस प्रधानमंत्री गर्भावस्था सहायता योजना आवेदन फार्म को जरूर भरें इससे आपके परिवार को मुख्य रूप से गर्भवती महिला की देखभाल के लिए कुछ वित्तीय सहायता मिल जाएगा।

प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना पंजीकरण करने की विधि थोड़ी बड़ी है इसके लिए इसमें आपका थोड़ा समय लग सकता है। मैं आपसे अनुरोध करता हूं कि कृपया शांतिपूर्वक और ध्यान से प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना आवेदन फॉर्म भरें। इससे जुड़ी सभी सहायता मैं आपको प्रदान करने वाला हूं बस आप उन सभी कड़ी को ध्यान से पढ़ें और जैसा बताया गया है वैसे पंजीकरण की विधि को करें।

प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना पंजीकरण 2018 करें – पूरी विधि

जैसे कि प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना के तहत गर्भवती महिला को तीन किश्तों में इसका लाभ मिलता है जिसके लिए आपको तीन अलग-अलग फॉर्म भरने पड़ेंगे।

  1. सबसे पहला फार्म 1-ए
  2. और दूसरा फॉर्म 1-बी
  3. तीसरा और सबसे आख़िरी फॉर्म 1-सी

सबसे पहला फॉर्म 1-ए भरने का तरीका।

पहले फॉर्म को भरने के लिए आपको किसी भी नजदीकी आंगनवाड़ी केंद्र यहां स्वीकृत स्वास्थ्य केंद्र पर जाना होगा और वहां पर प्रधानमंत्री मातृत्व योजना लाभ के लिए पंजीकरण कराएं। पंजीकरण करते समय आपको एक फॉर्म दिया जाएगा जो पहला फॉर्म होता है भरने के लिए।

अगर आपको फॉर्म नहीं मिल रहा है तो वहां पर मौजूद किसी अधिकारी से इसके बारे में चर्चा करें।

दूसरा फार्म 1-बी भरने की विधि।

जिस आगनवाड़ी केंद्र पर आप पहला फॉर्म का पंजीकरण कराएं उसी आंगनवाड़ी केंद्र पर या स्वीकृत स्वास्थ्य केंद्र पर आपको दूसरा भी फॉर्म भरना होगा और उसके लिए आप आंगनवाड़ी पर इसके भरने के समय के बारे में पूछें।

आंगनवाड़ी या स्वीकृत केंद्र पर आपको दूसरे फॉर्म भरने के समय की जानकारी मिल जाएगी और उस समय पर आकर इसकी क्रिया को पूरा करें।

तीसरा फार्म 1-सी भरने की विधि

जिस तरह से आपने दूसरे फॉर्म को भरा है उसी तरह से तीसरे फॉर्म की भी जानकारी आंगनवाड़ी या स्वीकृत स्वास्थ्य केंद्र से लें। वह लोग आपको इस फॉर्म को कब भरना है इसके सही समय के बारे में बताएंगे और उस समय पर आंगनवाड़ी या स्वीकृत स्वास्थ्य केंद्र पर जाकर तीसरे फॉर्म को विधि-पूर्वक भरे।

प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना पंजीकरण के कुछ शर्त इस प्रकार है।

पहले गर्भवती महिलाएं जिनकी उम्र 19 वर्ष या उससे अधिक है उनको तीन किश्तों में ₹4000 की राशि मिलती थी। परंतु अभी राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम से गर्भवती महिलाओं को कुल राशि 6,000 रुपए का लाभ दिया जाता है वह भी सिर्फ दो किश्तों में।

  • गर्भवती होने के 4 महीने के अंदर गर्भवती महिला का नाम आपके नजदीकी आंगनवाड़ी केंद्र में रजिस्टर कराएं।
  • आंगनवाड़ी केंद्र में पूर्व देखभाल जैसे बैठक होती है उसमें महिला को कम से कम एक बार भाग लेना है।
  • AWC या हेल्थ केयर सेंटर में कम से कम तीन बार परामर्श ले, एक सत्र में।

जैसे कि आपको ₹6000 की राशि दो किश्तों में मिलेगा। ₹3000 तो शिशु को जन्म देने से पहले और ₹3000 शिशु को जन्म देने के बाद मिलता है।

मुझे उम्मीद है आपने एक अच्छे और स्वास्थ्य शिशु को जन्म दिया है। शिशु का जन्म होने के बाद नीचे के कुछ प्रक्रियाएं हैं उनको जाने और दूसरी ₹3000 की राशि को पाएं।

  • शिशु का जन्म होने के बाद उसका पंजीकरण कराएं। पंजीकरण कराना बहुत ही आवश्यक है अगर आप इस में लापरवाही करेंगे तो रु 3000 की राशि मिलने में आपको समस्या हो सकती है।
  • छह सप्ताह और 10 सप्ताह में जन्म के समय ओपीवी और बीसीजी के साथ बच्चे को टीका-करण करें।
  • प्रसव के तीन महीने के भीतर कम से कम दो विकास निगरानी सत्र में भाग लें।

इसके अतिरिक्त इस योजना का लाभ लेने के लिए मां की आवश्यकता होती है।

  • अपने शिशु को विशेष रूप से 6 महीने तक स्तनपान कराएं और मां द्वारा प्रमाणित पूरक आहार दे।
  • ओपीवी और डीपीटी के साथ बच्चे को टीकाकरण करें।
  • प्रसव के बाद तीसरे और छठे महीने के बीच विकास निगरानी और शिशु और शिशु पोषण और भोजन पर कम से कम दो परामर्श सत्रों को प्रस्तुत करें।

इस नियम में बहुत सारे बदलाव होते जा रहे हैं कभी लोग यह बोलते हैं कि सिर्फ दो किस्त में लाभ मिलेगा और कुछ लोग ऐसा बोलते हैं कि नहीं तीन किस्त में इसका लाभ मिलेगा। मैं आपको इसका एक दूसरा पहलू भी बता देता हूं।

  1. गर्भवती महिला को ₹1000 तब मिलेंगे जब वह अपने गर्भवती होने का पंजीकरण कराएगी।
  2. दूसरा किस्त यानी कि ₹2000 तब मिलेंगे जब उसने कम से कम एक बार जांच कराया है।
  3. तीसरी किस्त आपको शिशु के जन्म देने के बाद मिलेगा और जब शिशु को पहला टीकाकरण हो जाएगा जिसमें बीसीजी, ओपीवी, डीपीटी और हेपेटाइटिस बी शामिल हैं।

प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना

प्रधानमंत्री मातृत्व योजना कि कुछ और विशेष जानकारी।

अगर कुछ साल पहले की बात करें तो यह योजना ज्यादा रूप से सफल नहीं थी क्योंकि बहुत सारे ऐसे लोग थे जिनको इसके बारे में पता ही नहीं था। लेकिन बाद में यह योजना धीरे धीरे लोगों के बीच फैल गया और अभी इसको ज्यादा से ज्यादा लोग जानते हैं और इसका लाभ भी ले रहे हैं।

यह योजना से कुछ निम्न श्रेणी गर्भवती महिलाओं और स्तनपान कराने वाली माताओं को इसका लाभ नहीं मिलेगा।

  • कोई ऐसी महिला जो केंद्रीय या राज्य सरकार या किसी सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम के साथ नियमित रोजगार में है तो उसको प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना का लाभ नहीं मिलेगा। जैसे कि किसी महिला के पास रोजगार है या वह एक सरकारी कर्मचारी है उन सभी महिलाओं को इस लाभ से वंचित किया गया है।
  • कोई ऐसी महिला जो किसी अन्य योजना या कानून के तहत समान लाभ प्राप्त कर रही है तो उसको भी इससे वंचित कराया गया है।
  • इस योजना का लाभ उसी गर्भवती महिला को मिलेगा जो किसी सरकारी अस्पताल में शिशु को गर्व देती है। अगर महिला शिशु को घर में या किसी और जगह जन्म देती है तो वह इस लाभ को नहीं ले सकती हैं।

इस योजना का कार्यवन्यन जनवरी 2017 और मार्च 2020 के बीच होगा और इसके कुल बजट की बात करें तो सरकार इस पर 12661 करोड रुपए तक का खर्च करेगी। जिसमें से 7932 करोड रुपए केंद्र सरकार द्वारा वहन किए जाएंगे और बाकी की सभी राशि संबंधित राज्य सरकारों द्वारा वहन किया जाएगा।

Pradhan Mantri Matritva Vandana Yojana Wikipedia

क्या आपको किसी तरह का समस्या का सामना करना पड़ रहा है? प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना पंजीकरण कैसे करें उसकी विधि को जानने से पहले आपको सरकार की कुछ नियम और शर्तों को जाना चाहिए जो इस योजना पर पूरी तरह से लागू होता है। एक बार आप इन सभी शर्तों को अच्छे से पढ़ लेंगे उसके बाद आवेदन फॉर्म भरने में आपको कोई भी कठिनाई नहीं होगी।

अगर आपको अभी भी प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना का लाभ कैसे लें या प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना 2018 के पंजीकरण विधि को किस तरह से पूर्ण करें से लेकर कोई भी समस्या हो रही है तो आप वह समस्या नीचे कमेंट में लिखें। मैं अपनी तरफ से पूरी कोशिश करूंगा कि आपकी समस्या का जल्दी से जल्दी निवारण कर सकूं, धन्यवाद।

Leave a Comment